कोरोना वायरस, उसके लक्षणों व प्रभावों से तो करीब इन दो वर्षों में हम सभी भलीभांति वाकिफ हो चुके हैं। लेकिन अब हमें य​ह जानना ज्यादा जरूरी है ​कि कोरोना से ठीक होने के बाद क्या सावधानियां रखी जानी चाहिए। क्योंकि कोरोना के चलते हमारा शरीर कमजोर पड़ जाता है, जिससे हमें लम्बे समय तक सावधानियां बरतने व आराम करने की आवश्यकता पड़ती है। विशेषज्ञ भी यही सलाह देते हैं कि कोरोना से ठीक होने के बाद व्यक्ति को पौष्टिक गुणों से भरपूर संतुलित आहार, हल्का योगाभ्यास, आराम जरूर करना चाहिए। क्योंकि कोविड 19 एक जटिल बीमारी है और उससे शरीर में आई कमजोरी को दूर होने में समय लगता है।

आज हम आपको कुछ ऐसे जरूरी उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर कोविड-19 से ठीक हुआ व्यक्ति जल्दी रिकवर हो सकता है।

कोविड-19 से ठीक होने के बाद क्या सावधानियां रखनी चाहिए?

  • प्रतिदिन 8 घंटे की पर्याप्त नींद लें।
  • रोजाना आधा घंटा धूप का सेवन करें।
  • कठिन व ज्यादा मेहनत वाली कसरत नहीं करें। हल्का योगाभ्यास करें, ध्यान लगाएं। सांसों से जुड़े योग लाभदायक है।
  • प्रतिदिन 8 से 10 गिलास पानी जरूर पीएं। गुनगुना पानी फायदेमंद है लेकिन इसे दो बार से ज्यादा न पीएं।
  • अगर सूखी खांसी रहती है तो गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारें करें।

कोविड-19 से ठीक होने के बाद क्या खाएं?

food after covid

  • एक बार में ही ज्यादा भोजन न करें बल्कि थोड़ा थोड़ा दो तीन बार खाएं ताकि पचने में आसानी हो।
  • हल्का या ऐसा भोजन करें जो आसानी से पच सके। जैसे दाल का सूप, खिचड़ी, दलिया, चावल आदि।
  • रोजाना 75 से 100 ग्राम प्रोटीन अवश्य लें। इसके लिए दालें, दूध से बनें उत्पादों का सेवन करें।
  • विटामीन सी युक्त फलों का सेवन करें।
  • ज्यादा शुगरयुक्त, तला हुआ, प्रोसेस्ड फूड, ज्यादा वसा वाले उत्पाद, शराब, धूम्रपान का सेवन नहीं करें।
  • खाने में नमक का कम उपयोग करें।
  • सप्ताह में दो बार सहजन मोरिंगा की पत्तियों का सूप पिएं।

कोविड-19 से ठीक होने के बाद कैसे करें सेहत की जांच

  • अपना तापमान, ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर व ऑक्सीजन लेवल की जांच करते रहें।
  • शरीर में दर्द, बुखार, ज्यादा कमजोरी, घबराहट, ब्लड प्रेशर व शुगर लेवल कम ज्यादा होने, सांस फूलने, सीने में दर्द जैसी​ शिकायतों – पर डॉक्टर की सलाह लें।
  • कोरोना से ठीक होने के 7 दिन बाद डॉक्टर को जरूर दिखाएं।
  • डॉक्टर द्वारा दी गई दवाइयों का ​बराबर सेवन करें।
  • कोरोना से ठीक होने के तीन माह बाद ही वैक्सीन लगवाएं।
  • नकारात्मक खबरों, वातावरण से दूर रहें।

ब्लैक फंगस के लक्षणों पर भी दें ध्यान

black fungus hindi

कोरोना से ठीक होने के बाद ब्लैक फंगस के लक्षणों पर भी ध्यान देना जरूरी है। क्योंंकि कईं मामलों में कोरोनो से ठीक हुए लोगों में ब्लैक फंगस के लक्षण देखे गए हैं।

  • आंखों का लाल होना, सूजन आना, खुल न पाना व कम दिखाई देना।
  • आंख या नाक के आसपास दर्द होना।
  • नाक बंद होना व नाक, कान से बदबूदार पानी या खून आना।
  • चेहरे पर सूजन, दर्द या सुन्नपन रहना।
  • दांतों में दर्द, बुखार, सरदर्द, खांसी।
  • सांस लेने में तकलीफ।
  • उल्टी के साथ खून आना आदि।

यह थी कुछ ऐसी सावधानियां जो कोरोना से ठीक हुए व्यक्ति के लिए बेहद जरूरी हैं। अच्छा खानपान, दिनचर्या में सकारात्मक बदलाव कोरोना से ठीक हुए व्यक्ति की शरीरिक कमजोरी को दूर करने में सहायक है।

इसके अलावा भी अगर व्यक्ति ऐसे लक्षण महूसस करता है जो किसी बीमारी की ओर संकेत कर रहे हैं तो चिकित्सकीय सलाह बेहद जरूरी है। ऐसे में उदयपुर में कुछ ऐसे अस्पताल हैं जिन्होंंने कोरोना के समय रोगियों के बेहतर इलाज में महती भूमिका निभाई है।

उदयपुर (राजस्थान ) के हिरण मगरी सेक्टर 4 एरिया में स्थित चौधरी हॉस्पिटल शहर का प्रमुख मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल है। 2005 में स्थापित डॉ.चौधरी हॉस्पिटल में संभाग भर से हज़ारों मरीज इलाज के लिए आते हैं एवं ठीक होकर घर जाते हैं। चौधरी हॉस्पिटल में उचित दरों में इलाज व जांच सुविधा उपलब्ध है। उदयपुर का डॉ.चौधरी हॉस्पिटल क्षेत्र के प्रमुख अस्पतालों में से एक है, जहां कोरोना रोगियों की उचित देखभाल व परस्पर उपचार किया जा रहा है। कोविड 19 की पहली से लेकर अब तक डॉ.चौधरी हॉस्पिटल का रिकॉर्ड कोरोना के इलाज में अन्य बीमारियों की तरह अच्छा साबित हुआ है। ऐसे में आप कोरोना के इलाज के लिए चौधरी हॉस्पिटल का चुनाव कर सकते हैं।

डॉ.चौधरी हॉस्पिटल की विशेषताएं

  • एनएबीएच प्रमाणित
  • स्वास्थ्य सेवाओं में 15 साल का अनुभव
  • प्रति वर्ष 4 लाख+जांचें
  • विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम
  • सटीक परिणाम
  • अत्याधुनिक डायग्नोस्टिक लैब्स
  • कोविड केयर यूनिट